Shiv Mahima

Shiv Mahima by Shri Vinod Agarwal

Shri Vinod Agarwal

भवानीशंकरौ वन्दे श्रद्धाविश्वासरूपिणौ।
याभ्यां विना न पश्यन्ति सिद्धाः स्वान्तःस्थमीश्वरम्॥
(श्री रामचरितमानस, बालकाण्ड)

मैं भवानी और शंकर की वन्दना करता हूँ...जो श्रद्धा और विश्वास के रूप में सबके हृदय में वास करते हैं। बिना श्रद्धा श्रद्धा और विश्वास के सिद्ध भी अपने अंदर बैठे ईश्वर को नहीं देख सकते हैं।

Listen to the last episode:

ॐ नमः पार्वती हर हर महादेव . . .

Previous episodes

  • 8 - Har Har Mahadev 
    Sat, 22 Aug 2020
  • 7 - Shiv dhuni 
    Sat, 22 Aug 2020
  • 6 - Bhole ka hai vyah 
    Sat, 22 Aug 2020
  • 5 - Shiv vivah 
    Sat, 22 Aug 2020
  • 4 - Bhole ki baraat 
    Sat, 22 Aug 2020
Show more episodes

More Indian %(religion & spirituality)s podcasts

More international religion & spirituality podcasts

Choose podcast genre